Sewabharti Jharkhand: Skill Development Workshop inaugurated by Governor Droupadi Murmu

सेवा भारती, झारखण्ड प्रदेश द्वारा गुरूनानक स्कूल प्रांगण में ‘‘देशज हुनर एवं स्वावलंबन’’ के लोकार्पण के अवसर पर माननीया राज्यपाल श्रीमती द्रौपदी मुर्मू के अभिभाषण on dated 12/06/2016
सेवा भारती द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में सम्मिलित होकर मुझे अपार प्रसन्नता हो रही है।

 मुझे अवगत कराया गया कि सेवा भारती संस्था समाजसेवा एवं जन-जागरण का पुनीत कार्य कर रहा है। इस सिलसिले में सेवा भारती द्वारा सेवा सुरभि का प्रकाशन किया जाता है।  सेवा सुरभि का समाजसेवा, शिक्षा, पर्यावरण, जनजागृति जैसे अहम विशय पर केन्द्रित विशेशांक का प्रकाशन करना नेक सोच है। खुशी की बात है कि सेवा भारती द्वारा इस बार ‘‘देशज हुनर और स्वावलम्बन’’ जैसे महत्वपूर्ण एवं प्रासंगिक विशय पर पत्रिका का प्रकाशन किया जा रहा है।सेवा भारती की जागरण पत्रिका कही जानीवाली सेवा सुरभि का यह विशेशांक लाभप्रद सिद्ध हो सकता है लेकिन इसके लिए जरूरी है कि लोगों को अवगत कराया जाय कि वे किस प्रकार देशज हुनर से लोग आत्मनिर्भर हो सकते हैं। देशज हुनर से लोगों की आर्थिक उन्नति हो सकती है और वे स्वावलंबी हो सकते हैं। हमारे रास्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने चरखा के जरिये लोगों को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया। इससे न केवल उस समय स्वदेशी को बढ़ावा दिया जा रहा था, बल्कि लोगों के आर्थिक उन्नयन पर भी बल दिया जा रहा था।आज हमारे राज्य सहित पूरे देश के लोगों में विभिन्न प्रकार के हुनर देखने को मिल रहे हैं। वे अपने परंपरागत कारीगरी के अतिरिक्त अन्य देषज कार्य क्षेत्रों में निपुण एवं दक्ष हैं। कई ऐसे लोग हैं जो कुछ नया सीखना चाहते हैं, स्वयं के अन्दर निहित प्रतिभा को विकसित करना चाहते हैं। इन सबके लिए कौषल विकास पर ध्यान देने की जरूरत है। इसके लिए आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा Skill India Mission पर बल दिया जा रहा है। 
लोगों के अन्दर निहित प्रतिभा एवं हुनर को विकसित करने तथा उन्हें दक्ष बनाने के लिए सरकार द्वारा कौशल विकास पर बल दिया जा रहा है, लेकिन सरकारी तंत्रों के साथ-साथ स्वयंसेवी संस्थाओं को भी पूर्ण सेवा व समर्पण भाव से आगे आना होगा। 
                         मैं आशा करती हूँ कि सेवा भारती जैसे कई संस्थान लोगों के कौशल विकास की ओर गंभीरतापूर्वक ध्यान देगी। इसके लिए लोगों को प्रषिक्षण सुलभ कराने का दायित्व सरकार के साथ-साथ हमारे स्वयंसेवी संगठनों का भी है। कौशल विकास के जरिये देशज हुनर को बढ़ावा देने से गरीब एवं बेरोजगारों की सामाजिक-आर्थिक स्तर में सुधार आयेगी। आज हमारे कई युवा भी प्रेरित होकर देशज हुनर से जुड़ना चाहते हैं। बहुत-से लोगों को आष्चर्य होगा कि कुछ युवाओं ने जिन्होंने बेहतर Institute ls Management ,oa Engineering की पढ़ाई की, उन्हें अच्छी-जगह नौकरियाँ लगी लेकिन उनका झुकाव देशज हुनर की ओर चला गया। वे समाज को दिशादिखाने का कार्य कर रहे हैं।  हमारे देश में बहुत-से प्रतिभावान युवा हैं, जो देशज हुनर से जुड़कर कार्य कर रहे हैं। उनके उत्साह को देखकर जरूर कहा जा सकता है कि वे Job Creator  बनेंगे। मैं इस संस्था सहित अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं का आह्वान करते हुए कहना चाहूँगी कि वे देशज हुनर से अधिक-से-अधिक संख्या में हमारे गरीब व बेरोजगारों को जोड़ें। उन्हें बेहतर प्रशिक्षण सुविधा सुलभ कराने का अपने-अपने स्तर से प्रयास करें ताकि उन्हें रोजगार तो मिले, साथ ही दूसरों को भी रोजगार देनेवाला बने।ऐसा कर वे न केवल समाजहित में अपनी जिम्मेदारियों को ईमानदारीपूर्वक निर्वहन करेंगे, बल्कि गरीबी उन्मूलन की दिशा में व्यापक प्रयास कर राष्ट्र के विकास में भी अपना सहयोग देंगे।
जय हिन्द ! जय झारखण्ड!

Comments

Popular posts from this blog

Educated in SevaBharati hostel; the first doctor of Attappadi Tribal Village

All NGOs should take the lead of Sewabharati and adopt a Govt School: SDM

Sevabharathi “Anantha Kripa” A Shelter Home for patients