Posts

Showing posts from March 25, 2016

Sewabharti Jabalpur : Organisational profile

मातृछाया Sewa Bharti Jabalpur मातृछाया के बारे में
मातृछाया- मातृछाया की संकल्पना एक ऐसे शिशु संरक्षण गृह के रूप में की गई है। जहां पर नवजात/अबोध एवं परित्यक्त शिशुओं के सम्यक पालन पोषण हेतु सभी आवष्यक व्यवस्थाओं को एक छत के नीचे सुनिष्चित किया जा सके एवं जिसे सामाजिक न्याय विभाग, मध्यप्रदेष शासन, भोपाल के आदेष क्रमांकः/एफ-3-5/2006/26-2 भोपाल, दिनांक 12/4/2006 के द्वारा मातृ-छाया को शिशु संरक्षण गृह की मान्यता प्रदान की गई है।
शिशुओं की देखभाल एवं प्रबंधन हेतु आई.सी.पी.एस. के निर्देषानुसार स्टाॅफ की व्यवस्था है। बच्चों के स्वास्थ्य की देख-रेख हेतु एक अंशकालिक चिकित्सक भी हैं, जो कि प्रतिदिन मातृछाया आते हैं। मातृछाया के कार्य संचालन हेतु पृथक से एक संचालन समिति गठित की गई है। जो कि कार्य संचालन में पूर्ण रूप से सक्रिय है। जिससे समस्त व्यवस्थाऐं स्तरानुकूल है। दत्तक ग्रहण प्रक्रिया हेतु, 5 सदस्यीय अस्थायी पोषण देखरेख एवं दत्तक ग्रहण समिति का गठन किया गया है जिसे पात्र दम्पतियों का चयन कर उन्हें मुक्त घोषित शिशुओं को अस्थायी पोषण देखरेख एवं न्यायालयीन प्रक्रिया के द्वारा दत्तक ग्रहण की…