National conference on Sewa Samarasata and Youth by Sewabharati UP

युवा सोचेंगे तो बदल जाएगा देश


गोरखपुर:

युवा देश के बारे में सोचें। मसलन देश क्या है? क्या हो सकता है? गरीब होना क्यों गुनाह है? सबकी सेवा करने वाला समाज का सबसे वंचित वर्ग सर्वाधिक उपेक्षित क्यों हैं? तमाम तरक्की के बावजूद देश के 27.2 करोड़ लोग दो जून की रोटी को क्यों मोहताज हैं। अगर आपको यह सोच परेशान करेगी। आप इनके हल के बाबत सोचेंगे। इनको दूर करने का प्रयास करेंगे तो देश जरूर बदलेगा।

यह बातें अखिल भारतीय सह सेवा प्रमुख (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की) अजीत प्रसाद महापात्रा ने कही। वे रविवार को यहां विश्वविद्यालय के दीक्षा भवन में हुई गोष्ठी के मुख्य वक्ता थे। गोरक्षप्रांत युवा भारती की ओर से आयोजित गोष्ठी का विषय था, 'सेवा, समरसता और युवा'।

कहा कि हर साल करीब तीन करोड़ युवा ऊंचे पदों पर तैनाती पाते हैं। करीब 10 करोड़ कालेज की पढ़ाई पूरी कर खुद के बारे में सोचते हैं। मेरा इन युवाओं से सवाल है कि क्या वे देश के वर्तमान, भविष्य और समाज के वंचित तबके के बारे में भी सोचते हैं? ऐसा सोचना ही आपके ज्ञान और पढ़ाई की सार्थकता होगी। आप असंभव को संभव बना सकते हैं। इसके लिए संकल्प लेना होगा। विद्या बेचने की नहीं दान की चीज है। हमारी परंपरा ने भी विद्या को सबसे बड़ा दान माना है। समाज के सबसे वंचित वर्ग के पात्रों में इसका दान करें। वे आपको देवता मान लेंगे। इससे बड़ा सम्मान और सुख कोई और नहीं। विवेकानंद ने कहा था कि मुझे अगर 100 समर्पित युवा मिल जाएं तो मैं देश की तकदीर बदल सकता हूं। वह बात आज भी उतनी ही प्रासंगिक है। 

बतौर अध्यक्ष गोरखपुर विश्वविद्यालय के राजनीति शास्त्र के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर श्रीप्रकाश मणि ने युवाओं से सोच बदलने और संकल्प लेने की अपील की। 

कार्यक्रम के शुरू में डा.राजेश चंद्र गुप्त ने अतिथि परिचय और विषय प्रवर्तन के दौरान डा.राजेश चंद्र गुप्ता और डा.रविप्रकाश ने कहा कि नर के जरिये नि:स्वार्थ भाव से नारायण सेवा ही सेवा भारती का मिशन है। सब समान होंगे तो देश महान होगा, इसके पीछे की सोच है। 

गोष्ठी को सेवा भारती गोरक्षप्रांत के अध्यक्ष डा.महेंद्र अग्रवाल और रत्‍‌नेश श्रीवास्तव ने भी संबोधित किया। युवा भारती के प्रांत संयोजक कुलदीप मौर्य ने आभार जताया। संचालन उग्रसेन सोनकर ने किया। अविरल शर्मा के सेवा गीत, विश्वनाथ अग्रहरि के देश भक्ति के गीतों और रामानंद यादव के बिरहा को सबने सराहा।

कार्यक्रम में प्रांत प्रचारक मुकेश खांडेकर, सह प्रांत प्रचारक कौशल, विभाग प्रचारक संजय, सह विभाग प्रचारक बैरिस्टर, सेवा भारती के क्षेत्र सेवा प्रमुख नवल किशोर, यशोदानंद के अलावा उपेंद्र द्विवेदी, प्रो.संजीत, अरुण मल्ल, रासबिहारी, शिवजी सिंह, अखिल देव त्रिपाठी, रीचा चौधरी, शैवाल शंकर, अभिजीत सिंह, डा.विमल, रमाशंकर शुक्ल, एपी श्रीवास्तव, पारितोष, कृष्णमोहन जितेंद्र और अमरेंद्र आदि मौजूद थे।

---------

सेवा भारती को मिला सचल चिकित्सालय के लिए वैन

स्वयंसेवी संस्था ऐक्शन फार पीस, प्रास्पर्टी एंड लिबर्टी की ओर से सेवा भारती को सचल चिकित्सालय के लिए वैन उपलब्ध कराया गया।

Source https://www.google.co.in/amp/m.jagran.com/lite/uttar-pradesh/gorakhpur-city-15383959.html

Comments

Popular posts from this blog

Educated in SevaBharati hostel; the first doctor of Attappadi Tribal Village

All NGOs should take the lead of Sewabharati and adopt a Govt School: SDM

Sevabharathi “Anantha Kripa” A Shelter Home for patients